Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi Lyrics – Jubin Nautiyal

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi Lyrics by Jubin Nautiyal is the latest Hindi (devotional) song. The song lyrics were written by Manoj Muntashir while the music is given by Payal Dev.

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi Lyrics

“Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi” Track Info:

Song Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Singer Jubin Nautiyal
Lyrics Manoj Muntashir
Music Payal Dev

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi Lyrics

Uncha Hai Bhawan Uncha Mandir
Unchi Hai Shaan Maiyaa Teri
Charno Mein Jhuke Baadal Bhi Tere
Parvat Pe Laage Shaiyaaa Teri

Hey Kaalraatri Hey Kalyani
Teraa Jod Dhara Par Koi Nahi
Meri Maa Ke Baraabar Koi Nahi
Meri Maa Ke Baraabar Koi Nahi

Terii Mamta Se Jo Gehra Ho
Aisaa To Saagar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi

Jaise Dhaara Aun Nadiyan
Jaise Phool Aur Bagiya
Mere Itne Zyada Paas Hai Tu

Jab Na Hoga Tera Aanchal
Naina Mere Honge Jalthal
Jaayenge Kahan Fir Mere Aansu

Dukh Door Hua Mera Saara
Andhiyaron Mein Chamka Taaraa
Naam Tera Jab Bhi Pukara

Suraj Bhi Yahan Hai Chanda Bhii
Tere Jaisa Ujagar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahii
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahii

Hey Kaalraatri Hey Kalyani
Tera Jod Dhara Par Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi

Tere Mandiron Mein Maai
Maine Jot Kya Jalayi
Ho Gaya Mere Ghar Mein Ujaala

Kya Bataun Teri Maiyaaa
Jab Kabhi Main Ladkhadayaa
Tune Das Bhujaon Se Sambhala

Khil Jaati Hai Sookhi Daali
Bhar Jaati Hai Jholi Khaali
Teri Hi Mehar Hai Mehra Wali

Mamta Se Teri Badhke Maiyaaa
Meri To Dharohar Koi Naahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Naahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Naahi

Hey Kaalraatri Hey Kalyani
Tera Jod Dhara Par Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi

Teri Mamta Se Jo Gehra Ho
Aisa To Saagar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi
Maa… Meri Maa…
Maa… Meri Maa…
Maa… Meri Maa…
Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi Lyrics In hindi

ऊँचा है भवन ऊँचा मंदिर
ऊँची है शान मैया तेरी
चरणों में झुके बादल भी तेरे
पर्वत पे लगे शैया तेरी

हे कालरात्री हे कल्याणी
तेरा जोड़ धरा पर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

तेरी ममता से जो गहरा हो
ऐसा तो सागर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

जैसे धारा और नदियां
जैसे फूल और बगिया
मेरे इतने ज़्यादा पास है तू

जब ना होगा तेरा आँचल
नैना मेरे होंगे जलथल
जाएंगे कहाँ फिर मेरे आंसू

दुःख दूर हुआ मेरा सारा
अंधियारों में चमका तारा
नाम तेरा जब भी पुकारा

सूरज भी यहाँ है चंदा भी
तेरे जैसा उजागर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

हे कालरात्री हे कल्याणी
तेरा जोड़ धरा पर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

तेरे मंदिरों में माई
मैंने जोत क्या जलाई
हो गया मेरे घर में उजाला

क्या बताऊँ मैया
जब कभी मैं लड़खड़ाया
तूने दस भुजाओं से संभाला

खिल जाती है सूखी डाली
भर जाती है झोली खाली
तेरी ही मेहर है महरा वाली

ममता से तेरी बढ़के मैया
मेरी तो धरोहर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

हे कालरात्री हे कल्याणी
तेरा जोड़ धरा पर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

तेरी ममता से जो गहरा हो
ऐसा तो सागर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

मेरी माँ के बराबर कोई नहीं
माँ… मेरी माँ…
माँ… मेरी माँ…
माँ… मेरी माँ…
मेरी माँ के बराबर कोई नहीं

Meri Maa Ke Barabar Koi Nahi” Music Video